अवतल दर्पण किसे कहते हैं | उत्तल और अवतल दर्पण में अंतर

अवतल दर्पण किसे कहते हैं | उत्तल और अवतल दर्पण में अंतर: Guys आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले की अवतल दर्पण किसे कहते हैं उत्तल दर्पण किसे कहते हैं, अवतल दर्पण और उत्तल दर्पण में क्या अंतर है अवतल दर्पण के उदाहरण, अवतल दर्पण के उपयोग, अवतल दर्पण का चित्र, उत्तल दर्पण के उपयोग, और उत्तल दर्पण सूत्र। अवतल और उत्तल दर्पण के बारे में हम डिटेल्स में सीखेंगे। तो आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना है और पोस्ट अच्छी लगेगी तो अपने दोस्तों के साथ शेयर कर देना है

अवतल दर्पण तथा उत्तल दर्पण की परिभाषा

अवतल दर्पण किसे कहते है? | Avtal Darpan Kise Kahate Hain

अवतल दर्पण एक प्रकार एक गोलीय दर्पण होता है। जिसमें एक परावर्तक सतह होती है. यह परावर्तक सतह दर्पण में अंदर की ओर से उभरा हुआ रहता है। इस प्रकार के दर्पण को अवतल दर्पण कहते हैं। अवतल दर्पण हमेशा अपने ऊपर पड़ने वाले प्रकाश को अंदर की ओर प्रतिबिंबित करता है।
और अवतल दर्पण का दूसरा नाम अभिसारी दर्पण है इस लिए अवतल दर्पण को अभिसारी दर्पण भी कहते हैं

उत्तल और अवतल दर्पण

उत्तल दर्पण किसे कहते हैं | convex mirror

उत्तल दर्पण भी एक प्रकार का गोलीय दर्पण है। जिस दर्पण का परावर्तक तल बाहर की तरफ उभरा रहता है उसे उत्तल दर्पण कहते हैं।

उत्तल और अवतल दर्पण

उत्तल दर्पण के उदाहरण :- वाहनों के साइड मिरर ऑप्टिकल वाद्ययंत्रों, घंटी कॉलिंग, आदि के भी रियर साइड मिरर

 

उत्तल दर्पण (Convex Mirror) अवतल दर्पण (Concave Mirror)
उत्तल दर्पण में परावर्तक सतह बाहर की ओर उभरा हुआ होता है। अवतल दर्पण में  परावर्तक सतह हमेशा अंदर की ओर उभरा हुआ होता है।
उत्तल दर्पण प्रकाश को बाहर की ओर प्रतिबिम्बित करता है। अवतल दर्पण प्रकाश को अंदर की ओर प्रतिबिंबित करता है ।
उत्तल दर्पण से बना हुआ प्रतिबिंब वस्तु के मूल आकार से छोटा होता है। अवतल दर्पण से बना हुआ प्रतिबिंब वस्तु के मूल आकार से बड़ा होता है।
उत्तल दर्पण में वस्तुओं का प्रतिबिंब 2 स्थितियों में बनता है। अवतल दर्पण में वस्तुओं का प्रतिबिंब 6 स्थितियों में बनता है।
उत्तल दर्पण की प्रकृति अपसारी होती है। अवतल दर्पण की प्रकृति अभिसारी होती है।